Monitor Kya Hai | मॉनिटर क्या है? और इसके प्रकार

Hello Friends, तो स्वागत है आपका हमारी आज की इस नयी पोस्ट मे ,जिसमें हम आपको Monitor Kya Hai | मॉनिटर क्या है? और इसके प्रकार कितने होते हैं? इसके बारे मे बताने वाले है।

Monitor Kya Hai | मॉनिटर क्या है? और इसके प्रकार कितने होते हैं? इसके बारे मे जानने के लिए हमारी इस पोस्ट को पुरा पढ़े। हम रोज़ रोज़ आपके लिए एसे ही नए नए informative पोस्ट लाते रहते हैं।

Monitor Kya Hai | मॉनिटर क्या है? और इसके प्रकार

Monitor Kya Hai | मॉनिटर क्या है? और इसके प्रकार

आजकल, इस Technology के दौर में आपने Monitor के बारे में कई बार सुना होगा और कई बार Monitor को देखा भी होगा और उसका Use भी कई बार Videos,Games या किसी अन्य कार्यो को करने के लिए किया होगा।

लेकिन शायद ही आप जानते होंगे कि Monitor Kya Hai | मॉनिटर क्या है? और इसके प्रकार कितने होते हैं? तो आज हम आपको इसी बारे में बताने वाले हैं। Monitor से संबंधित सभी जानकारी के लिए आप पूरी पोस्ट को ध्यान से पढ़े।

Monitor kya hai? (मॉनिटर क्या है?)

Monitor एक Output Device होता है, Output Device Hardware का एक Component या Computer का मुख्य भाग है।

हम इसे Output Device इसलिए कहते हैं क्योंकि इसे छुआ जा सकता है और जिसे Computer Users को सूचना देने के लिए प्रयोग किया जाता हैं इसके बिना Computer अधूरा होता है।

इसके अलावा Monitor को “Visual Display Unit” भी कहते हैं। यह दिखने में TV की तरह ही होता है और यह Output Data को अपनी Screen पर Soft Copy के रूप में दिखाता है।

तो अब आपको ये तो पता चल ही गया होगा कि Monitor kya hai? Monitor क्या है?तो अब हम बात करते है कि मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं?

मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं?

तो Friends, यहाँ मै आपको बताने वाली हूँ कि Monitor कितने प्रकार के होते हैं?

वेसे तो इसके प्रकार कई होते हैं लेकिन मॉनिटर को रंगों के आधार पर तीन भागो में बाँटा जाता है।

रंगों के आधार पर Monitor के प्रकार

  • Monochrome Monitor (मोनोक्रोम मॉनिटर)
  • Grayscale Monitor (ग्रे-स्केल मॉनिटर)
  • Coloured Monitor (रंगीन मॉनिटर)

Monochrome Monitor (मोनोक्रोम मॉनिटर)

Monochrome दो शब्दों से मिलकर बना है,जिसमे पहला शब्द हैं Mono जिसका मतलब हैं (Single) और Chrome जिसका मतलब हैं (Color) इस तरह के Monitor Screen पर Output को Black and White के रूप में दिखाते हैं|

Grayscale Monitor (ग्रे-स्केल मॉनिटर)

Grayscale Monitor कई प्रकार के Monochrome Monitor होते है, जो Gray Shades में Output को प्रस्तुत करते हैं इस प्रकार के Monitor Output अधिकतर Laptop में प्रयोग किये जाते हैं।

Coloured Monitor (रंगीन मॉनिटर)

Coloured Monitor (RGB) Red,Green,Blue के Adjustment के रूप में Output को दिखाते हैं RGB के कारण ऐसे Monitor High Resolution में Graphics को दर्शाने में सक्षम होते हैं Computer Memory की क्षमता के अनुसार ऐसे Monitor 16 से 16 लाख तक के रंगों में Output को दर्शाने की क्षमता रखते हैं।

मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं?

तो Friends अब आपको ये तो पता चल ही गया होगा कि रंगो के आधार पर Monitor के तीन प्रकार कौन से हैं।

तो अब हम बात करते हैं, “Monitor के आकार और कार्य क्षमता के आधार पर Monitor के प्रकार के बारे में”

Monitor के आकार और कार्य क्षमता के आधार पर Monitor चार प्रकार के होते हैं।

आकार और कार्य क्षमता के आधार पर Monitor के प्रकार

  • CRT Monitor (सी.आर.टी. मॉनिटर)
  • Flat Panel Monitor (फ्लैट पैनल मॉनिटर)
  • LCD (Liquid Crystal Display) Monitor (एल.सी.डी. मॉनिटर)
  • LED (Light Emitting Diode) Monitor (एल.ई.डी. मॉनिटर)

CRT Monitor (सी.आर.टी. मॉनिटर)

अधिकतर Monitors में Picture Tube Element होता है जो TV set के सामान होता है इस Tube को (CRT) Cathode Ray Tube CRT कहते हैं| यह सस्ती और अच्छी रंगीन output देते हैं| जिसको (VDU) Visual Display Unit भी कहते हैं|

Picture Tube में से हवा को निकाल कर खाली कर दिया जाता है| Monitor में इसकी समतल सतह की और Electron की पतली Beam छोड़ी जाती है।

समतल सतह के Face पर Phosphorus की Coating होती है जो उच्च गति के Electron के टकराने से Light Produce करता है। हर Pixel Electron के एक Beam से चमकता है।

Flat Panel Monitor (फ्लैट पैनल मॉनिटर)

Flat Panel Monitor और Display Devices की तकनीक को CRT Technique के स्थान पर विकसित किया गया है। जिसमे Chemicals और Gas को Glass की Plates के बीच रखा जाता है। इसे Flat Panel Display कहा जाता है।

यह Devices वजन में हलकी और Light की कम खपत करने वाली होती है। यह Devices Laptop और LCD में लगाई जाती है। Flat Panel Display में Liquid Crystal Display (LCD) Technique होती है LCD में CRT Technique के मुकाबले में Resolution कम होता हैं।

LCD Monitor (एल.सी.डी. मॉनिटर)

CRT Monitor TV की तरह ही होते थे जैसे-जैसे समय निकलता गया Technology का भी विकास हुआ और CRT Monitor की जगह (LCD) Liquid Crystal Display Monitor का इस्तेमाल होने लगा।

सबसे पहले इसका इस्तेमाल Laptop की Screen में होता था फिर उसके बाद इसका इस्तेमाल Desktop Computer के Monitor में भी होने लगा, यह एक Digital Technology है। इन Monitors को रखने में कम जगह का इस्तेमाल होता है और कम बिजली खर्च होती हैं।

LED Monitor (एल.ई.डी. मॉनिटर)

LED monitor के अभी बाजार में कई तरह के हैं ये flat panel Display के होते है। CRT और LCD के मुकाबले LED Monitor कम बिजली का प्रयोग करते हैं।

यह ज्यादा Contrast वाले Picture का उत्पादन करते है और ये Environment पर कम Negative Effect डालते हैं। LED, CRT और LCD से ज्यादा चलने वाले होते हैं इसकी Display बहुत पतली होती हैं।

LED Monitor बहोत महंगे होते हैं और अभी जो घुमावदार Display वाले Monitor बाजार में आए है वह बहुत महंगे होते हैं, इसमें बैक lighting के लिए Cold Cathode Fluorescent Lamp (CCFL) की बजाय Light Emitting Diode (LED) का प्रयोग किया जाता है।

Monitor के कार्य और विशेषताएँ

तो friends, अब आपको Monitor क्या है? और यह कितने प्रकार के होते हैं? यह तो पता चल ही गया होगा तो अब बात करते है Monitor के कार्य और उसकी विशेषताओ के बारे मे।

यह भी पढ़ें: Google किस देश का है?

यह भी पढ़ें: Google Pay क्या है? और कैसे Use करें?

यह भी पढ़ें: Hard Disk क्या होती है?

यह भी पढ़ें: PhonePe Account कैसे बनाएं?

Monitor के कार्य:

Monitor एक Output Device है और Output Device सूचना देने का कार्य करते है। लेकिन कुछ Output Device एसे भी होते हैं जो Hard Copy के रुप में सुचना देता है। जैसे कि-Printer

जबकि कुछ Output Device एसे भी होते हैं जो Soft Copy के रुप में सुचना देते है।

जैसे; Monitor, Monitor का कार्य सुचना को Soft Copy के रुप में दिखाना होता है। Computer के सभी कार्यो को Monitor अपनी Screen पर दिखाता हैं। Monitor के बिना कंप्यूटर में क्या हो रहा है ये हम नहीं देख सकते।

Monitor की विशेषताएँ:

  • अगर हम बात करते है Monitor के Size की तो पेहले 15 इंच की Display वाला Monitor का इस्तेमाल किया जाता था लेकिन अब उसकी जगह अच्छी Quality के Full HD (1920-1280) Display वाले Monitor का इस्तेमाल किया जाता है।
  • बात करते है Picture Quality की जो सबसे ज़रूरी Feature है अच्छी Picture Quality के लिए अब बाज़ार मे 4K Range के Ultra HD Device आने लगे हैं।
  • कुछ Display ऐसे होते हैं जिनके Viewing Angle बहुत कम 90/60 डिग्री होता है और कुछ के अधिक 170/170 डिग्री होते हैं।
  • पहले 4:3 का इस्तेमाल होता था लेकिन अब 16:9 Aspect Ratio वाले Monitor सबसे आरामदायक होते हैं जिस पर काम भी आसानी से हो जाता है।

“अक्सर पूछे जाने वाले सवाल”

Monitor क्या है?

Monitor एक Output Device है,जो Output Data को अपनी Screen पर Soft Copy के रूप में दिखात है इसका उपयोग Computer Users को सूचना देने के लिए किया जाता है।

Monitor की full form क्या है?

Monitor की Full Form,
M- Machine
O-Output
N-Number Of
I-Information
T-To
O-Organize
R-Report

Monitor का अविष्कार किसने किया था?

Monitor का अविष्कार जर्मनी के वैज्ञानिक कार्ल फर्डीनांड ब्राउन (Karl Ferdinand Braun) ने सन 1897 ई० में किया था।

Monitor कितने प्रकार के होते हैं?

Monitor रंगों के आधार पर 3 प्रकार के और अपने आकार और कार्य क्षमता के आधार पर 4 प्रकार के होते हैं।

सीआरटी मॉनिटर क्या है?

वह Monitors जिनमें Picture Tube Element (TV set के सामान) होता है वह सीआरटी मॉनिटर होते हैं। यह सस्ती और अच्छी रंगीन output देते हैं| जिसको Visual Display Unit भी कहते हैं| Picture Tube में से हवा को निकाल कर खाली कर दिया जाता है|

एलसीडी मॉनिटर क्या है?

LCD की full form Liquid Crystal Display” होती है। यह एक Flat Panel Display Technology है जिसे आमतौर पर TVs और Computer Monitors के साथ इसका Mobile device के screen के तोर पर भी में Use करा जाता है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट मे हमने आपको Monitor Kya Hai | मॉनिटर क्या है? और इसके प्रकार कितने होते हैं? इसके बारे मे बताया हैं। साथ ही हमने आपको मॉनिटर के कार्य और उसकी विशेषताओं के बारे में भी जानकारी दी है।

यह पोस्ट आपके लिए काफ़ि informative हो सकती हैं इसकी मदद से आप काफ़ि कुछ जान सकते हैं, अगर आप Monitor के बारे मे पूरी तरह जानना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट से Monitor के बारे में विस्तार से जान सकते हैं।

अगर आपके लिए यह पोस्ट सहायक रही हो या इस पोस्ट से आपको कुछ जानने या सीखने को मिला हो, तो इस पोस्ट को Share करके हमारा समर्थन करें, ताकि हम आपके लिए रोज़ एसी नई नई और Informative पोस्ट लाते रहें, जिससे आपको सहायता मिल सकें|